Dr. Bheem Rao Ambedkar Quotes in Hindi/डॉ.भीमराव अम्बेडकर के अनमोल विचार

  • Dr. Bheem Rao Ambedkar Quotes in Hindi/डॉ.भीमराव अम्बेडकर के अनमोल विचार

b.r ambedkar quotes in hindi


  • INTRODUCTION

डॉ.भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 में हुआ था! वह एक विश्वस्तर के विधिवेता थे! वह एक दलित राजनीती नेता,अर्थशास्त्री और सामाजिक सुधारक के साथ-2 भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार थे! बाबा साहब को लोग अछूत और वेहद निचला वर्ग माना जाता था! बचपन में बाबा साहब के साथ गहरा सामाजिक वेदभाव किया गया था! और बाबा साहब ने पुरे जीवन इस भेद-भाव को दूर करने के लिए लड़ाई लड़ी थी! डॉ.भीमराव अम्बेडकर भारत के पहले भारतीय कानुन मंत्री थे! डॉ.भीमराव अम्बेडकर की मृतु 6 दिसंबर, 1956 को हो गयी थी!


  • Dr. Bheem Rao Ambedkar Thoughts in Hindi


QUOTE 1:एक महान आदमी एक प्रतिष्ठित आदमी से इस तरह अलग होता है! कि वह समाज का नोकर बने को तैयार रहता है!

QUOTE 2:लोग और उनके धर्म सामाजिक मानवो दुआरा; सामाजिक नैतिकता के आधार पर परखे जाने चाहिए! अगर धर्म को लोगो के भले के लिए आवश्यक मान लिया जायेगा! तो और किसी मानव का मतलव नहीं होगा!

QUOTE 3:आज भारतीय दो अलग-2 विचारधाराओं द्वारा शासित हो रहे हैं। उनके राजनीतिक आदर्श जो संविधान के प्रस्तावना में लिखित हैं!  वो स्वतंत्रता समानता और भाई -चारे को स्थापित करते हैं! और उनके धर्म में समाहित सामाजिक आदर्श इसे इंकार करते है!

QUOTE 4:इतिहास बताता है! कि जहाँ नैतिकता और अर्थशास्त्र के बिच संघर्ष होता है! वह जित हमेशा अर्थशास्त्र की होती है! निहित स्वार्थ को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया! जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल न लगाया गया हो!

QUOTE 5:उदासीनता लोगो को प्रभावित करने वाली सबसे खराब किस्म की बीमारी है!

QUOTE 6:हमारे पास यह स्वतंत्रता किस लिए है! हमारे पास यह स्वतंत्रता इसलिए है! ताकि हम अपने सामाजिक व्यवस्था जो असमानता भेद-भाव और अन्य चीजो से भरी है! जो हमारे मौलिक अधिकारों से टकराव में है! उसे सुधार सके!

QUOTE 7:हम सबसे पहले और अंत में भारतीय है!

QUOTE 8:हिन्दू धर्म में विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के लिए कोई गुंजाइस नहीं है!

QUOTE 9:राजनितिक अत्याचार सामाजिक अत्याचार की तुलना में कुछ भी नहीं है! और एक सुधारक जो समाज को ख़ारिज कर देता है! वो सरकार को ख़ारिज कर देने वाले राजनितिक से ज्यादा साहसी हैं।

QUOTE 10:लोग और उनके धर्म, सामाजिक नैतिकता के आधार पर सामाजिक मानको द्वारा परखे जाने चाहिए! अगर धर्म लोगो के भले के लिए आवश्यक वस्तु मान लिया जायेगा! तो और किसी मानक का मतलब नहीं होगा!

QUOTE 11:समानता एक कल्पना हो सकती है!,लेकिन फिर भी इसे एक गवर्निंग सिद्धांत के रूप में स्वीकार किया जायेगा!

QUOTE 12:समुद्र में मिलकर अपनी पहचान खो देने वाली पानी के एक बूँद के विपरीत, इंसान जिस समाज में रहता है! वहाँ अपनी पहचान नहीं खोता! इंसान का जीवन स्वतंत्र है! वह सिर्फ समाज के विकास के लिए पैदा नहीं हुआ है! बल्कि स्वयं के विकास के लिए पैदा हुआ है!, बल्कि स्वयं के विकास के लिए पैदा हुआ है!

QUOTE 13:पति-पतनी के बिच का  सम्बन्ध घनिष्ठ मित्रो के सम्बन्ध के समान होना चाहिए!

QUOTE 14:मनुष्य का जीवन महान होना चाहिए! न की लंबा!

QUOTE 15:में उस धर्म को पसंद करता हूँ! जो स्वतंत्रता,समानता और भाई चारे का भाव सिखाता है!

QUOTE 16:में किसी समुदाय की प्रगति महिलायो ने जो प्रगति हासिल की है! में उसे मापता हूँ।

QUOTE 17:यदि मुझे लगा की संविधान का द्रुप्योग किया जा रहा है! तो में इसे सबसे पहले जलायोगा!

QUOTE 18:यदि हम संयुक्त एकीकृत भारत चलाते है! तो सभी धर्मो के धर्मग्रंथों की संप्रभुता का अंत होना चाहिए!

QUOTE 19:एक  सफल  क्रांति  के लिए  सिर्फ  असंतोष  का  होना  काफी  नहीं  है! बल्कि इसके लिए न्याय,राजनितिक और सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था का होना बहुत जरुरी है!

QUOTE 20:एक सुरक्षित सेना एक एक सुरक्षित सीमा से बेहतर है!

QUOTE 21:कानून और व्यवस्था राजनीती रूपी शरीर की दवा है! और जब राजनीती रूपी शरीर बिमार पड़ जाये! तो दवा जरूर दी जानी चाहिए!

QUOTE 22:जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते! कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है! वो आपके किसी काम की नहीं है!

QUOTE 23:जिस तरह मनुष्य नश्वर है! ठीक उसी तरह मनुष्य नश्वर है! जिस तरह पौधे को पानी की जरुरत पड़ती है! उस तरह विचार को प्रचार-प्रसार की आवश्यकता  होती है! वरना दोनों मुरझा कर मर जाते है!

QUOTE 24:जिस प्रकार हर एक व्यक्ति यह सिदांत दोहराता है! कि एक देश दूसरे देश पर शाशन नहीं कर सकता! उसी तरह उसे यह भी माना होगा! कि एक वर्ग दूसरे वर्ग पर शाशन नहीं कर सकता है!

QUOTE 25:ज्ञान का विकास ही मनुष्य का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए!

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *