• बाज की उड़ान से सिख (hindi short plays)

एक बार की बात है! की एक बाज का अंडा मुर्गी के अंडो में आकर मिल गया! कुछ दिनों बाद अंडो में से चूजे निकले! और बाज भी ऊनी अंडो में से निकाला! और जैसे -२ वो बचे बड़े हुए! और बाज का बच्चा भी उनके साथ बड़ा हुआ! जैसे -२ वो चूजे के बचे करते वैसे ही वो बाज का बच्चा करता!  वो उनी की तरह मिटी में खेलता और कूदता और चु चु करता! और उनी की तरह हवा में थोड़ा उड़ता! और फिर निचे गिर जाता!

top hindi short playsमगर एक दिन उसने एक बाज को उड़ते हुए देखा! और चूजो से पूछा ये पक्छी कौन है! जो इतनी उचाई पर उड़ रहा है! क्या में भी ऐसे उड़ सकता हु! तभी चूजो ने जवाब दिया! और क्या तुम्हें नहीं पता ये बाज है! पक्छीयो का राजा तुम इसकी तरह नहीं उड़ सकते हो! क्योंकि तुम तो एक चूजे हो न!

और बाज ने ये बात मान ली और उसने कभी बाज की तरह उड़ने की नहीं सोची! और वो ऐसे ही चूजो के साथ चूजा बनकर मर गया!तो दोस्तों आज कल के लोग भी अपने अंदर की काबलियत को नहीं पहचान कर बस चूजे की तरह ही जीवन जी रहे है! क्योंकि वो अपने अंदर की काबलियत  को नहीं पहचान कर बस अपने हालात को दोष देते रहते है!तो दोस्तों आप चूजे की तरह मत बनिए बस आगे बढ़ते चलिए!  जब आदमी जान लगता है! तो पत्थर भी पानी में जाता है! और आदमी के लिए कुछ भी असम्भव नहीं है! वह सब कुछ कर सकता है! तो दोस्तों आपको भी ये बात याद रखनी है! की अपनी काबलियत को मारने नहीं देना है! उसे बाहर निकालना है!

दोस्तों कमेंट में बताये की आपको http://hindiglobe.com  पर कैसी लगी ये स्टोरी  जिसे हम आपको और भी स्टोरी  भेज सके!