भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी के अनमोल कथन | INDIRA GANDHI THOUGHTS IN HINDI

  • इंदिरा गाँधी के अनमोल कथन | INDIRA GANDHI THOUGHTS IN HINDI 

  • INTRODUCTION


QUOTE 1:यदि मैं इस देश की सेवा करते हुए मर भी जाऊं! मुझे इसका गर्व होगा! मेरे खून की हर एक बूँद इस देश की तरक्की में और इसे मजबूत और गतिशील बनाने में योगदान देगी!

QUOTE 2:मेरे सभी खेल राजनीतिक खेल होते थे! मैं JOHN OF ARC की तरह थी! मुझे हमेशा दांव पर लगा दिया जाता था!

QUOTE 3:एक देश की ताकत इस बात पर निर्भर करती है! कि वो खुद क्या कर सकता है! इसमें नहीं कि वो औरों से क्या उधार ले सकता है!

QUOTE 4:गुस्सा कभी बिना तर्क के नहीं होता है! लेकिन कभी -कभार ही एक अच्छे तर्क के साथ होता है!

QUOTE 5:शहादत कुछ ख़त्म नहीं करती है! वो महज़ शुरआत है!

QUOTE 6:कुछ करने में पूर्वाग्रह है! चलिए अभी कुछ होते हुए देखते है! आप उस बड़ी योजना को छोटे -२ भागो में बाँट सकते है! और पहला कदम तुरंत ही उठा सकते है!

QUOTE 7:क्षमा वीरों का गुण है!

QUOTE 8:अगर मैं एक हिंसक मौत मरती हूँ! जैसा की कुछ लोग डर रहे है! और कुछ षड्यंत्र कर रहे है! मुझे पता है! कि हिंसा हत्यारों के विचार और कर्म में होगी! मेरे मरने में नहीं!

QUOTE 9:मेरे दादा जी ने एक बार मुझसे कहा था! कि दुनिया में दो तरह के लोग रहते है! वह जो काम करते है! और वो जो श्रेय लेते है! उन्होंने मुझसे कहा था! कि पहले समूह में रहने की कोशिश करो! वहां बहुत कम प्रतिस्पर्धा है!

QUOTE 10:उन मंत्रियों से सावधान रहना चाहिए! जो बिना पैसों के कुछ नहीं कर सकते है! और उनसे भी जो पैसे लेकर कुछ भी करने की इच्छा रखते है!

QUOTE 11:मेरे पिता एक राजनेता थे! मैं एक राजनीतिक औरत हूँ! मेरे पिता एक संत थे! मगर मैं नहीं हु!

QUOTE 12:भारत में कोई राजनेता इतना साहसी नहीं है! कि वह लोगों को यह समझाने का प्रयास कर सके! कि गायों को खाया जा सकता है!

QUOTE 13:प्रशन करने का अधिकार मानव प्रगति का आधार है!

QUOTE 14:आपको गतिविधि के समय सामान्य रहना और विश्राम के समय क्रियाशील रहना सीख लेना चाहिए!

QUOTE 15:आप बंद मुट्ठी से हाथ नहीं मिला सकते है!

QUOTE 16:लोग अपने कर्तव्यों को भूल जाते है! पर अधिकारों को याद रखते है!

QUOTE 17:वहां प्रेम नहीं है! जहां इच्छा नहीं है!

Leave a Reply